महानायक अमिताभ बच्चन के 35 प्रेरक विचार Best Amitabh Bachchan Quotes In Hindi

Amitabh Bachchan Quotes In Hindi अमिताभ बच्चन एक भारतीय फिल्म अभिनेता, फिल्म निर्माता, टेलीविजन होस्ट, सामयिक पार्श्व गायक और पूर्व राजनीतिज्ञ हैं। बॉलीवुड के शहंशाह, सदी का महांनायक, स्टार ऑफ़ द मिलेनियम या बिग बी के रूप में संदर्भित, वह तब से पांच दशकों से अधिक के करियर में 200 से अधिक भारतीय फिल्मों में दिखाई दिए। बच्चन को व्यापक रूप से भारतीय सिनेमा के साथ-साथ विश्व सिनेमा के इतिहास में सबसे महान और प्रभावशाली अभिनेताओं में से एक माना जाता है। वह हरिवंशराय बच्चन के बेटे है।

Amitabh Bachchan Quotes In Hindi

महानायक अमिताभ बच्चन के 35 प्रेरक विचार Amitabh Bachchan Quotes In Hindi

मैं किसी तकनीक का प्रयोग नहीं करता; मैं अभिनय करने के लिए प्रशिक्षित नहीं किया गया। मैं बस फिल्मो में काम करना पसंद करता हूँ।

 

जो थोड़े-बहुत लोग यथार्थवादी सिनेमा बनाते हैं, जो ऐसा सिनेमा बनाते हैं जो शायद पश्चिमी दर्शकों को अधिक स्वीकार्य है, वे बहुत कम हैं।

 

हर किसी को स्वीकार करना चाहिए कि हमारी उम्र बढ़ेगी और उम्र का बढ़ना हमेशा प्रशंशापूर्ण नहीं होता।

 

मैं जिन चीजों से गुजरा हूँ और जिस असाधारण तरीके से मेरे शरीर ने प्रतिक्रिया की वह अद्भुत है. आश्चर्य नहीं की मैं धार्मिक हो गया, क्योंकि आप नहीं जानते कि आपके साथ कुछ चीजें क्यों हो रही हैं और आपको नहीं पता की आप कैसे बाउंस बैक करते हैं।

 

असल में मैं बस एक अभिनेता हूँ जो अपने काम से प्यार करता है और उम्र के बारे में ये सब बातें केवल मीडिया में पनपती ।

Amitabh Bachchan Quotes In Hindi

ऐसी बहुत सी चीजें हैं जो मुझे लगता है कि मैंने कई चीजें मिस कर दी हैं।

 

मैं कभी एक सुपरस्टार नहीं रहा और कभी इसमें यकीन नहीं किया।

 

मैं कभी भी अपने कैरियर को लेकर आश्वस्त नहीं रहा हूँ।

 

मैंने बोफोर्स की वजह से राजनीति नहीं छोड़ी. मैंने राजनीती इसलिए छोड़ी क्योंकि मैं तुच्छ राजनीतिक खेल खेलना नहीं खेलना नहीं जानता. मैं तब भी नहीं जानता था और अब भी नहीं जानता हूँ।

 

मुझे कभी-कभी इस तथ्य से दुःख होता है कि मेरे पास एक पूर्ण और निरोग शरीर नहीं है।

 

यह एक रणक्षेत्र है, मेरा शरीर, जिसने बहुत कुछ सहा है।

 

सच कहूँ तो मैं कभी ‘आइकन’, ‘सुपरस्टार’, इत्यदि विश्लेषणों के चक्कर में नहीं पड़ा. मैं हमेशा खुद को एक अभिनेता के रूप में देखता हूँ जो अपनी काबीलियत के अनुसार जितना अच्छा कर सकता है कर रहा है।

 

बेवजह अच्छे बनो, वजह से बहुत बने फिरते रहते है।

 

काश ऐसी भी हवा चले की कौन किसका है यह भी पता चले।

 

अपनी आलोचना का हमेसा स्वागत करना चाहिए वरना पता कैसे चलेगा की हमारी बात लोगो तक पहुची है की नही।

 

जीवन के लिए एक शानदार नजरिया – लोग हमारे बारे में क्या सोचेगे यदि हम यही सोचेगे तो फिर लोग क्या सोचेगे।

 

हमारी हर साँस हमे प्रतिक्षण शिक्षित करती है।

 

उस समस्या का समाधान कभी भी नही हो सकता है जबतक हम उस मन: स्थिति से उसके बारे में ही सोचते रहेगे और जिस मन: स्थिति से हमने उसे बनाया है।

 

जीवन में बहुत ऐसी चीजे भी होती है जिन्हें लगता है की मै उन्हें मिस कर दिया।

 

अपने कैरिएर को लेकर मै कभी भी आशस्वत नही रहा हु।

 

नफरत का खुद का कोई वजूद नही होता है वह तो सिर्फ मोहब्बत की गैर मौजूदगी का नतीजा है।

 

हम सभी के अंदर एक ऐसी अलौकिक शक्ति का भंडार होता है जो तभी बाहर आता है जब जिन्दगी हमारी इम्तिहान लेती है।

 

हम सबके जीवन में एक ऐसा भी वक्त आता है जिसमे हमे सिर्फ हमे ईमानदारी, स्थिरता, इज्जत और विश्वनीयता में रूचि रखते है।

 

ऐसा ज्ञान की प्राप्ति जो झूठा, निराधार और गलत हो वो ज्यादा खतरनाक होता है उससे अच्छा है की हम अज्ञानी, अशिक्षित या विद्याहीन ही रहे।

 

ऊच नीच को नही मानती है हमारे देश की भाषाए क्यूकी भारत की भाषाओ में कोई अक्षर कैपिटल या स्माल नही होते है।

 

यदि आप अपनी नजरे सूर्य पर रखेगे तो आपको परिछाहिया कभी भी नही दिखेगी।

 

मुझे कभी कभी इस बात से भी दुःख होता है की मेरे पास पूर्णरूप से निरोग एंव स्वस्थ शरीर नही है।

 

हम अपने जीवन में जो चाहते है उसे चुनने के लिए मुक्त है लेकिन उसके परिणाम से कभी मुक्त नही हो सकते है।

 

ये कभी मत सोचना की जो तेज बोलते है वे शक्तिशाली ही हो, और जो धीमे बोलते हो वे कमजोर हो।

 

मैंने कभी महान होने के लिए काम नही किया, मैंने तो जो भी काम किया उसे बस सोच कर किया जो भी करना है उसे अपने पूरे योग्यता के साथ करना है।

 

मैंने कोई तकनीक का इस्तेमाल नही करता हु और न ही मैंने अभिनय का कोई विशेष प्रशिक्षण लिया हु मै जो भी कार्य करता हु वो पूरे मेहनत के साथ ख़ुशी से करता हु।

 

मै जिन परिस्थितियों से होकर गुजरा हु उस परिस्थिति में मेरा शरीर जिस प्रकार प्रतिक्रिया की है वह किसी रणक्षेत्र से कम नही है।

 

यदि आप में लगन, धैर्य, हिम्मत, है तो आप किसी भी विकट परिस्थिति में उसका सामना करते हुए सफलतापूर्वक बाहर निकल कर आगे जा सकते है।

 

आप जीवित रहने के लिए क्या करते है और आपके जीने का उद्देश्य क्या है इन दोनों में बहुत फर्क है।

 

एक दिन ये चेहरे बदल जाते है दुनिया बदले या न बदले लेकिन कुछ ऐसे भी है काम जो हमे बताते है की कोई भी काम बड़ा या छोटा नही होता है हमारा दिल बड़ा होना चाहिए।

यह भी जरुर पढ़े :-

Share on:

मेरा नाम प्रमोद तपासे है और मै इस ब्लॉग का SEO Expert हूं . website की स्पीड और टेक्निकल के बारे में किसी भी problem का solution निकलता हूं. और इस ब्लॉग पर ज्यादा एजुकेशन के बारे में जानकारी लिखता हूं .

Leave a Comment

error: Content is protected !!