BYJU’S के संस्थापक बायजु रविन्द्रन के सफ़लता की कहानी Byju Raveendran Success Story In Hindi

Byju Raveendran Success Story In Hindi हैलो दोस्तों, इस ब्लॉग के माध्यम से हम BYJU’S के संस्थापक श्रीमान बायजु रविन्द्रन के बारे में जानेंगे। अगर आप एक विद्यार्थी होंगे और आप ऑनलाइन पढ़ने में रुचि रखते हों तो शायद ही आपने BYJU’S का नाम सुना होगा।

Byju Raveendran Success Story In Hindi

BYJU’S के संस्थापक बायजु रविन्द्रन के सफ़लता की कहानी Byju Raveendran Success Story In Hindi

BYJU’S की स्थापना 2011 में बायजु रविन्द्रन ने अपने भाई रिजु रविन्द्रन और अपनी पत्नी दिव्य गोकुलनाथ के साथ मिलकर की थी। BYJU’S अभी इंडियन क्रिकेट टीम की जर्सी स्पॉन्सर है। शाहरुख खान BYJU’S के ब्रांड एंबेसडर हैं, यह भारत का पहला यूनिकॉर्न EdTech startup है। BYJU’S एशिया का एकमात्र ऐसा startup है जिसे मार्क जकरबर्ग और उनकी पत्नी की संस्था “Chan Zuckerberg Initiativeसे वित्तीय पोषण मिला है। जनवरी 2020 के अनुसार BYJU’S का valuation 8.3 बिलियन डॉलर यानि भारतीय मुद्रा के हिसाब से लगभग 59000 करोड़ है।

 बायजु रविन्द्रन की जीवनी :-

  बायजु रविन्द्रन एक मलयाली परिवार से हैं। इनका जन्म सन 1980 में केरल के थ्रिसुल जिले के एक गाँव अझीकोड़े में हुई थी। इनके पिताजी “रविन्द्रन” एक सेवानिवृत भौतिकी के शिक्षक हैं और माताजी “शोभानवल्ली” एक सेवानिवृत गणित की शिक्षिका हैं। बायजु के एक भाई भी हैं रिजु रविन्द्रन। बायजु ने अपनी प्राथमिक शिक्षा अपने जन्म-स्थल अझीकोड़े में ही की थी। बायजु पढ़ाई और खेल-कूद दोनों में ही काफी अच्छे थे। बायजु को बचपन में खेल-कूद में काफी रुचि थी, इनके माँ बाप ने भी इन्हे अलग-अलग खेलों को खेलने पर काफी ज़ोर दिया।

बायजु ने अपने स्कूल और कॉलेज के दिनों में अलग-अलग खेल जैसे, फूटबाल, क्रिकेट, बैडमिंटन, टेबल टेनिस आदि खेला है। खेल-कूद में काफी अच्छे होने के बावजूद बायजु ने कभी भी खेल जगत में अपनी कैरियर बनाने की नहीं सोची। बायजु ने इंजीनियरिंग या मेडिकल के क्षेत्र में अपनी कैरियर बनाने की सोची। बायजु के मेडिकल क्षेत्र में न जाने की एकमात्र वजह यह थी, क्योंकि मेडिकल क्षेत्र में जाने पर उन्हें खेलने के लिए पर्याप्त समय नहीं मिलता और बायजु यह बिलकुल ही नहीं चाहते थे, इसीलिए बायजु ने इंजीनियरिंग को ही चुना और कन्नूर जो केरल में है, के एक सरकारी कॉलेज से मैकेनिकल इंजीनियरिंग की शिक्षा हासिल की।

बायजु ने अपनी इंजीनियरिंग की शिक्षा पूरी करने के बाद एक multi-national फ़र्म में सर्विस इंजीनियर के तौर पर नौकरी पा ली। स्नातक स्तर की शिक्षा समाप्त करने के बाद बायजु छुट्टियों पर थे, उस समय उनके कुछ दोस्त CAT की तैयारी कर रहे थे। चूँकि बायजु गणित में काफी अच्छे थे, इसीलिए उनके दोस्तों ने उन्हें गणित में मार्गदर्शन करने को कहा। बायजु ने ना सिर्फ उनका मार्गदर्शन किया बल्कि ऐसे ही मजे-मजे में CAT की परीक्षा में खुद भी प्रयास किया, परीक्षा का परिणाम काफी आश्चर्यचकित करें वाला था।

बायजु ने CAT की परीक्षा में 100 percentile हासिल किया था, पहली बार में उन्हे खुद पर ही विश्वास नहीं हुआ अतः उन्होनें पुनः CAT की परीक्षा में प्रयास किया और दोबारा से 100 percentile हासिल किया। श्रीमान बायजु को उनके हासिल किए हुये अंक के अनुसार देश के बड़े-बड़े IIMs से नामांकन के लिए कॉल आए, लेकिन बायजु को MBA में कोई रुचि नहीं थी इसीलिए उन्होने सारे प्रस्ताव ठुकरा दिये।

उनके दोस्त भी काफी अच्छे अंक से उत्तीर्ण हुये। इस प्रकार बायजु की शिक्षण जगत में कैरियर की शुरुआत हो चुकी थी, शुरू में बायजु अपने दोस्तों को उनके घरों की बालकोनी में पढ़ाते थे। बायजु के गणित के प्रश्नों को हल करने के तरीके से काफी छात्र प्रभावित थे, क्योंकि उनके तरीके से प्रश्नों को हल करने पर समय की काफी बचत होती थी, इसीलिए बायजु के छात्रों की संख्या में धीरे-धीरे वृद्धि होने लगी। बायजु को भी छात्रों को पढ़ाना अच्छा लगता था इसीलिए उन्होने अपनी नौकरी छोड़ दी और पढ़ाना शुरू कर दिया। शुरुआत में बायजु निःशुल्क पढ़ाते थे और जिन छात्रों को रुचि थी तथा उनके पढ़ाने का तरीका समझ आता था सिर्फ उन्हीं से शुल्क लिया जाता था।  

 BYJU’S की शुरुआत कैसे हुई :-

बायजु रविन्द्रन ने अपने दिलचस्पी के अनुसार पढ़ाने को चुन लिया था, और इस प्रकार BYJU’S-The Learning App की नींव रखी जा चुकी थी। BYJU’S – लर्निंग ऐप थिंक एंड लर्न प्राइवेट लिमिटेड का सामान्य ब्रांड नाम है। बायजु रविन्द्रन ने पढ़ाई को दिलचस्प बनाने पर काफी ज़ोर दिया। बायजु ने शुरुआत में अपने दोस्तों को पढ़ाया था, बायजु ने सिर्फ थ्योरी को पढ़ाने पर ज़ोर नहीं दिया, बल्कि technology के इस्तेमाल से visual लर्निंग पर प्रकाश डाला।

BYJU’S कक्षा छह से बारह तक के विद्यार्थियों के लिए शिक्षा प्रदान करता है, कुछ क्लासेज मुफ्त है और एडवांस्ड क्लासेज के लिए कीमत चुकानी पड़ती है । धीरे-धीरे समय के साथ BYJU’S के सब्स्क्राइबर्स की संख्या में बढ़ोतरी हुई और साथ ही BYJU’S के courses की संख्या में भी वृद्धि हुई। अभी BYJU’S के 40 लाख से ज्यादा सब्स्क्राइबर्स जिसमें से लगभग 1.5 लाख से ज्यादा भुगतान करने वाले सब्स्क्राइबर्स हैं।

BYJU’S छठी कक्षा से लेकर बारहवीं कक्षा तक की तैयारी कराने के साथ-साथ सरकारी परीक्षाओं जैसे की CAT, UPSC, IIT-JEE, NEET इत्यादि की भी तैयारी कराता है। अगर आप भी सरकारी परीक्षाओं की तैयारी करते हैं तथा Sarkari Result, Admit Card, Exam Dates इत्यादि के बारे में जानकारी पाना चाहते हैं तो THERESULT .NET पर चेक कर सकते हैं।

Note :- यह गेस्ट पोस्ट दि रिजल्ट.नेट के संस्थापक हिमांशु कुमार ने की है , इनके ब्लॉग पर आपको जॉब , सरकारी नोकरी के बारे में जानकारी मिलती है.

और भी पढ़िए सफ़लता की कहानियाँ :-

Share on:

मेरा नाम प्रमोद तपासे है और मै इस ब्लॉग का SEO Expert हूं . website की स्पीड और टेक्निकल के बारे में किसी भी problem का solution निकलता हूं. और इस ब्लॉग पर ज्यादा एजुकेशन के बारे में जानकारी लिखता हूं .

Leave a Comment

error: Content is protected !!