चाय पीने के फायदे और नुकसान कौनसे है जानिए हिंदी में

दोस्तों आज की पोस्ट में हम लोग बात करेंगे चाय पीने के फायदे और नुकसान की | चाय भारतीय समाज का एक अभिन्न अंग बन चुकी है, सर्वे के अनुसार पाया गया है लगभग 90% भारतीय बिना नागा किए चाय पीने के आदी होते हैं | इनमें से लगभग 25% लोग दिन भर में 2 बार से लेकर चार या पांच बार तक चाय का सेवन कर लेते हैं क्या आप जानते हैं यह अच्छी आदत है या नहीं इसके फायदे और नुकसान के बारे में पूरी जानकारी हासिल करने के लिए आप इस पोस्ट को पूरा अंत तक जरुर पढ़ें |

chay pine ke fayde nuksan

चाय पीने के फायदे और नुकसान, और इससे होने वाले रोग

चाय पीने के फायदे और नुकसान इस पोस्ट को पढ़ने के बाद अगर आप इसपर अमल करेंगे तो आप निश्चित रूप से बहुत फायदे में रहेंगे आपकी जानकारी के लिए बता दें कि हम भारतीयों को इस इस बीमारी की लत देखा देखी लगी है | चाय भारतीय देन नहीं है चाय अंग्रेज अपने साथ भारत में लाए थे | लेकिन उस वक़्त भारतीय लोगों ने सोचा के अंग्रेजों के इस महँगे शौक को हमें भी अपनाना चाहिए बस यहीं से भारतीय लोगों ने इस बीमारी को अपने गले लगा लिया और तब से लेकर आज तक ये चलन जारी है |

चाय हमारे मानव जीवन पर स्वास्थ्य की दृष्टि से बहुत खराब असर डालती है इसके सेवन से पाचनक्रिया तंत्र गढ़बढ़ा जाता है और यह तमाम पेट के रोगों के लिए भी जिम्मेदार है |

क्या आपने कभी सोचा है हमारे लिए चाय पीना जरुरी भी है या नहीं आपकी जानकारी के लिए हम बता दें चाय उनके लिए पीना सहे है जो लोग यूरोप और अमेरिका जैसे देशों में रह रहे हैं | ये उनके लिए सही भी है लेकिन गर्म देशों में रहने वाले लोगों के लिए चाय जहर के समान होती है |

जैसे कि हमारा भारत इसकी वजह यह है कि गर्म देशों में रहने वाले लोगों के पेट में अम्ल यानी के एसिड की मात्रा पहले से ही ज्यादा होती है और जब हम चाय पीते हैं तो यह एसिड की मात्रा बहुत ज्यादा बढ़ जाती है | किसी किसी को सीने में जलन या फिर लोगों के पेट में जलन जलन होती है ये चाय पीने का असर होता है यह चाय की वजह से ही होती है उन लोगों के पेट में चाय पीने की वजह से एसिडिक की मात्रा बढ़ जाती है जिससे पेट की अन्य बीमारियां भी बनने का डर रहता है |

चाय पीने के नुकसान क्या हैं?

चाय पीने के  नुकसान लगातार चाय पीने से आपके शरीर में ब्लड शुगर की बीमारी या हार्ट से संबंधित मतलब दिल की बीमारियां होने का डर बना रहता है, इसके साथ-साथ आपके शरीर में सबसे खतरनाक ब्लड प्रेशर की बीमारी होने का डर बढ़ जाता है | अगर आप चाहे तो एक छोटा सा प्रयोग करके भी इसको आजमा सकते हैं |

इसके लिए आप सबसे पहले सामान्य रूप से अपना ब्लड प्रेशर और शुगर चेक करवाएं और फिर एक कप चाय पीने के तुरंत बाद अपना ब्लड प्रेशर और शुगर दोबारा से चेक करें आपको पता लग जाएगा चाय पीने के कितने भयंकर परिणाम हो सकते हैं | और शायद इसका रिजल्ट देखने के बाद आप चाय पीना ही छोड़ दें |

चाय पीने की आदत आपके पाचन तंत्र पर सबसे बुरा प्रभाव डालती है जिससे आपके खाना पचाने की प्रक्रिया पूरी तरह से गड़बड़ हो जाती है और चाय पीने से भूख भी मर जाती है | चाय पीने से पेट में गैस बनना चालू हो जाती है और आपके पेट के अंदर अम्लीय मात्रा बढ़ जाने के कारण आपके सीने में जलन और खट्टी डकारें जैसी समस्या उत्पन्न हो जाती है अगर आपको गैस बनने की शिकायत है तो आपको चाय पीना बंद कर देना चाहिए |

चाय पीने से अक्सर देखा गया है कि लोगों के हाथ पैरों में दर्द लगातार बना रहता है अगर आपके साथ भी यह समस्या है तो आपको चाय का सेवन बंद कर दें क्योंकि चाय पीने से हड्डियों पर असर पड़ता है और वह दर्द करना शुरू हो जाती है | चाय ऐसे लोगों को सेवन करना चाहिए जो ठंडे स्थानों पर रहते हैं, क्योंकि ठंडे इलाकों में रहने वाले लोगों के ब्लड प्रेशर लो (LOW) रहता है या जिन लोगों का ब्लड प्रेशर लो होने की शिकायत है उन लोगों के लिए चाय सही है, क्योंकि चाय पीने से ब्लड प्रेशर जल्दी High हो जाता है |

चाय पीने से आपके शरीर में केलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ जाती है, केलेस्ट्रॉल बढ़ना मतलब आपके शरीर में रक्त में कचरे की मात्रा को बढ़ाना जिससे आपके दिल तक सुचारु रुप से ब्लड सर्कुलेशन यानी के खून का संचार सही नहीं हो पाता जिससे बाद में दिल की बीमारी है शुरू हो जाती है या हार्ट अटैक जैसी समस्या भी आ सकती है |

चाय पीने की लत (आदत) को कैसे छुड़ाएं

चाय पीने के फायदे और नुकसान अक्सर देखा गया है किसी चीज को पीने की लत लग जाए तो मानव शरीर एकदम से उसे छोड़ने के लिए राज़ी नहीं होता | जिस तरह से शराब या कोई अन्य नशे के लोग आदी रहते हैं बिल्कुल ठीक इसी तरह से चाय पीने वालों के साथ भी यह समस्या है, क्योंकि वह बचपन से ही चाय पीते हैं हुए आ रहे हैं और यह एकदम से छोड़ना बिलकुल नामुमकिन सा होता है |

इस समस्या को दूर करने के लिए और चाय पीने के नुकसान से बचने के लिए आप चाय में चीनी की जगह अगर गुड़ का उपयोग करेंगे और इसके साथ-साथ आपकी चाय में दूध का इस्तेमाल ना करते हुए चाय को पिया जाए तो ठीक रहता है | इसके अलावा आप हरी पत्तियों वाली चाय का उपयोग करें तो यह आपके लिए फायदेमंद साबित होगी हुई हमारे भारत में अधिकतर काली बारीक या दानों वाली चाय चलती है जो एक कचरे के समानहोती है |

यह भी जरुर पढ़िए :-

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!