तनाव कम करना चाहते हो, तो आजमाइए ये टिप्स Easy Tips For Reduce Stress In Hindi

Easy Tips For Reduce Stress In Hindi क्या आप हर छोटी-छोटी बात पर तनाव महसूस करते हैं? खैर, आप इस संघर्ष में अकेले नहीं हैं! तनाव एक वैश्विक समस्या है जो दुनिया की 80% से अधिक आबादी को प्रभावित करती है। अध्ययनों से यह भी पता चलता है कि पिछले कुछ महीनों में Google पर ‘तनाव’ सबसे अधिक खोजा जाने वाला कीवर्ड है, जो इसकी गंभीरता को दर्शाता है। सौभाग्य से, तनाव को कम करने के लिए कई स्व-सहायता तकनीकें हैं, जो शारीरिक और मानसिक विश्राम उपचारों के संयोजन का उपयोग करती हैं।

Easy Tips For Reduce Stress In Hindi

तनाव कम करने के आसान तरीके Easy Tips For Reduce Stress In Hindi

1. मूल कारण की पहचान करें ( Identify the Root Cause ) :-

अपने जीवन से तनाव को दूर करने का पहला तरीका यह पहचानना है कि इसका कारण क्या है। अपने उन सभी विचारों और भावनाओं को नोट करने के लिए एक पत्रिका बनाए जो आपको तनाव में डाल रहे हैं। यह आपके या आपके बॉस के आस-पास शोर करने वाले बच्चे हो सकते हैं या आपका लंबे समय तक काम करने का कार्यक्रम हो सकता है।

एक बार जब आप कारण जान लेते हैं, तो आप संबंधित पक्षों से बात कर सकते हैं या समस्या से छुटकारा पाने के लिए संभावित समाधान ढूंढ सकते हैं। उदाहरण के लिए, आप अपने बच्चों को कुछ गतिविधियों में व्यस्त रख सकते हैं या बेहतर कार्य-जीवन संतुलन के लिए अपने समय को समायोजित कर सकते हैं।

2. स्वस्थ खाएं ( Eat Healthy ) :-

क्या आप जानते हैं कि आपके द्वारा खाए जाने वाले कुछ खाद्य पदार्थ तनाव और चिंता को ट्रिगर कर सकते हैं? हाँ! उच्च मात्रा में शर्करा, कार्बोहाइड्रेट, कैफीन और अल्कोहल वाले खाद्य पदार्थ आपके रक्तचाप को बढ़ा सकते हैं और बदले में तनाव की भावनाओं को बढ़ा सकते हैं। यही कारण है कि आपको एक स्वस्थ आहार पर स्विच करना चाहिए जिसमें फल, ओमेगा -3 समृद्ध मछली, नट्स, साबुत अनाज, सब्जियां, अनाज आदि जैसे तनाव से राहत वाले खाद्य पदार्थ शामिल हों। ये खाद्य पदार्थ मस्तिष्क में स्वस्थ रक्त प्रवाह को बढ़ावा देने, कम पोषण को बढ़ावा देकर काम करते हैं।

3. हर्बल चाय पिएं ( Drink Herbal Tea ) :-

तनाव के स्तर को जल्दी कम करने के तरीकों में से एक है कुछ सुखदायक हर्बल चाय पीना। शोध से पता चलता है कि कुछ जड़ी-बूटियों जैसे पेपरमिंट, लैवेंडर, कैमोमाइल, पैशन फ्लावर, तुलसी, सौंफ आदि से बनी चाय में मन को शांत करने वाले गुण पाए जाते हैं। इन पेय पदार्थों में चिंता-विरोधी और अवसाद-रोधी प्रभाव भी होते हैं जो आपके तंत्रिका तंत्र को शांत कर सकते हैं और आपको फिर से आराम का अनुभव करा सकते हैं।

4. आवश्यक तेलों में श्वास लें ( Inhale Essential Oils ) :-

अरोमाथेरेपी स्वाभाविक रूप से तनाव को प्रबंधित करने का एक उत्कृष्ट उपाय है। इसमें कई पौधे आधारित आवश्यक तेल शामिल हैं जो शरीर और दिमाग पर शांत प्रभाव डालते हैं। कुछ आवश्यक तेलों जैसे लैवेंडर, बरगामोट, लेमनग्रास, नारंगी आदि की गंध को अंदर लेना कोर्टिसोल के स्तर (तनाव हार्मोन) को कम करने के लिए जाना जाता है, जिससे तनाव, चिंता और अवसाद की भावनाओं को कम किया जा सकता है।

5. संगीत सुनें Listen to Music ) :-

संगीत मन पर सकारात्मक प्रभाव डालकर तनाव से निपटने में आपकी मदद कर सकता है। मन को सुकून देने वाला संगीत जैसे नामजप, प्रकृति का प्रवाह, हल्की धड़कन, ओंकारा आदि सुनने से आप तुरंत आराम महसूस कर सकते हैं। हालांकि, कुछ लोगों को उच्च-तीव्रता और तेज संगीत अधिक प्रभावी लगता है क्योंकि यह उन्हें सक्रिय और ऊर्जावान महसूस कराता है। जब तक संगीत बहुत तेज न हो (जो आपके तनाव को बढ़ा सकता है), आप इसे एक अद्भुत तनाव प्रबंधन तकनीक के रूप में उपयोग कर सकते हैं।

6. आध्यात्मिकता ( Spirituality ) :-

घर पर तनाव को दूर करने का एक तरीका है, खासकर बड़ों के बीच, एक आध्यात्मिक दिनचर्या विकसित करना है। अध्यात्म का किसी धर्म से कोई लेना-देना नहीं है! यह ध्यान करने और अपने आप को उस दिव्य शक्ति से जोड़ने जितना आसान हो सकता है, जिस पर आप विश्वास करते हैं। ऐसा करने का एक और तरीका है मंदिरों, मस्जिदों, या चर्चों जैसे प्रार्थना स्थलों पर जाकर, जहाँ भी आपको शांति और शांति मिले। ऐसे लोगों के साथ बातचीत करना जो आपकी आध्यात्मिक विचारधाराओं को साझा करते हैं, मन की सकारात्मक स्थिति का अनुभव करने के लिए भी चमत्कार कर सकते हैं।

7. शारीरिक गतिविधि में शामिल हों ( Indulge in a Physical Activity ) :-

एक प्राकृतिक तनाव प्रतिक्रिया प्रणाली के रूप में, हमारा शरीर हमें “लड़ाई या उड़ान” बनाने के लिए एड्रेनालाईन और कोर्टिसोल नामक उच्च मात्रा में तनाव हार्मोन का उत्पादन करता है। हालांकि, जब आप किसी बाहरी खतरे से नहीं गुजरते हैं, तो ये हार्मोन आपके तंत्रिका तंत्र को खराब कर सकते हैं और रक्तचाप बढ़ा सकते हैं। इस प्रभाव को बेअसर करने के लिए, आपको कोई भी शारीरिक गतिविधि जैसे चलना, व्यायाम, जॉगिंग, तैराकी आदि करना चाहिए। वे शरीर में फील-गुड हार्मोन जारी करने और शांति बहाल करने के लिए तनाव हार्मोन को चयापचय करने में मदद करते हैं।

8. गहरी सांस लेने की कोशिश करें ( Try Deep Breathing ) :-

घर और कार्यस्थल पर तनाव कम करने के लिए गहरी सांस लेना एक बेहतरीन तकनीक है। इसके चमत्कारों का अनुभव करने के लिए आप इसे कभी भी और कहीं भी कर सकते हैं। जब आप धीरे-धीरे और गहरी सांस लेते हैं, तो आपका शरीर आपके मस्तिष्क को शांत होने के लिए एक संकेत भेजता है। आपका रक्तचाप और हृदय गति धीरे-धीरे सामान्य हो जाती है और आप अपने शरीर के महसूस करने के तरीके में महत्वपूर्ण अंतर देखते हैं।

9. ध्यान का अभ्यास करें ( Practice Meditation ) :-

ध्यान का आपके शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य पर गहरा प्रभाव पड़ता है। अपनी आँखें बंद करके एक कोने में चुपचाप बैठने से, ध्यान धीरे-धीरे आपके मन को अव्यवस्थित कर सकता है और विश्राम प्रदान कर सकता है। यदि आप शुरुआत कर रहे हैं, तो हर दिन 10 मिनट के लिए ध्यान करने की कोशिश करें और धीरे-धीरे समय बढ़ाएं। इसके अलावा, बेहतर ध्यान केंद्रित करने के लिए ऐसी जगह चुनें जो विकर्षणों से मुक्त हो।

10. पर्याप्त नींद लें ( Get Enough Sleep ) :-

तनाव और नींद अक्सर आपको एक गतिरोध में डाल देते हैं! नींद की कमी से तनाव बढ़ सकता है और तनाव आपके नींद के चक्र को बाधित कर सकता है। इसलिए, आपको श्रृंखला को तोड़ना चाहिए और सामान्य स्थिति को वापस लाने के लिए नियमित नींद के पैटर्न का पालन करना चाहिए। आप शुरू में अपने शरीर को थका देने और बिस्तर पर जल्दी उठने के लिए हल्के से मध्यम तीव्र कसरत के लिए जा सकते हैं। सोने के लिए सही वातावरण सेट करने के लिए अपने कमरे में रोशनी स्विच करें। इसके अलावा, कम से कम 7 घंटे की अच्छी नींद का आनंद लेने के लिए एक कप गर्म दूध या आरामदेह हर्बल चाय लें।

यह भी जरुर पढ़िए :-

Share on:

मेरा नाम सृष्टि तपासे है और मै प्यारी ख़बर की Co-Founder हूं | इस ब्लॉग पर आपको Motivational Story, Essay, Speech, अनमोल विचार , प्रेरणादायक कहानी पढ़ने के लिए मिलेगी | आपके सहयोग से मै अच्छी जानकारी लिखने की कोशिश करुँगी | अगर आपको भी कोई जानकारी लिखनी है तो आप हमारे ब्लॉग पर लिख सकते हो |

Leave a Comment

error: Content is protected !!