निबंध

PUBG मोबाइल गेम की लत पर निबंध Essay On PUBG Mobile Game Addiction

Essay On PUBG Mobile Game Addiction PUBG यह गेम जब से निकला है तब से हर बच्चे यही गेम खेलते हुए नज़र आते है।  जैसे इस गेम का उनपर नशा चढ़ गया हो। दुनिया भर में कई लोग विभिन्न प्रकार के व्यसनों से पीड़ित हैं, जिनमें नशा, मोबाइल की लत और टीवी की लत से कुछ का नाम शामिल है। बैंडबाजों में शामिल होने के लिए नवीनतम PUBG मोबाइल गेम की लत है और यह सबसे बुरा साबित हो रहा है।

Essay On PUBG Mobile Game Addiction

PUBG मोबाइल गेम की लत पर निबंध Essay On PUBG Mobile Game Addiction

PUBG के आदी लोगों को खेल से इतना लगाव होता है कि वे अक्सर खेल खेलने के लिए अपने भोजन और महत्वपूर्ण कार्यों को छोड़ देते हैं। इस लत से अनियमित नींद के पैटर्न का भी परिणाम हुआ है जो बहुत चिंता का कारण है। PUBG व्यसनों में कई मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य मुद्दों पर ध्यान दिया गया है।

PUBG की लत से पीड़ित लोगों में क्रोनिक माइग्रेन, कमजोर दृष्टि, मोटापा, अनिद्रा, अल्जाइमर, हृदय की समस्या, अवसाद, स्पॉन्डिलाइटिस और सिज़ोफ्रेनिया जैसे स्वास्थ्य के मुद्दों के विकास का एक उच्च जोखिम है। वे स्वस्थ जीवन के लिए आवश्यक गतिविधियों में रुचि खो देते हैं।

PUBG मोबाइल गेम की लत के बीच सामाजिक घटनाओं, महत्वपूर्ण व्यावसायिक बैठकों और पारिवारिक समारोहों को छोड़ देना काफी आम है। वे इनमें से किसी भी गतिविधि में लिप्त होने के बजाय PUBG खेलना पसंद करते हैं। वे गुस्से में और परेशान हो जाते हैं अगर कोई उन्हें अन्यथा मार्गदर्शन करता है। वे जल्द ही सामाजिक रूप से अलग-थलग हो जाते हैं।

इस लत से बच्चे सबसे ज्यादा प्रभावित होते हैं। माता-पिता को अपने बच्चों में PUBG की लत के चेतावनी संकेतों की पहचान करना उनकी जिम्मेदारी के रूप में लेना चाहिए। उन्हें अपने बच्चों को जितनी जल्दी हो सके इससे छुटकारा पाने में मदद करनी चाहिए।

यह भी जरुर पढ़िए :-

Srushti Tapase

मेरा नाम सृष्टि तपासे है और मै प्यारी ख़बर की Co-Founder हूं | इस ब्लॉग पर आपको Motivational Story, Essay, Speech, अनमोल विचार , प्रेरणादायक कहानी पढ़ने के लिए मिलेगी | आपके सहयोग से मै अच्छी जानकारी लिखने की कोशिश करुँगी | अगर आपको भी कोई जानकारी लिखनी है तो आप हमारे ब्लॉग पर लिख सकते हो |

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!
Close