BIOGRAPHY

कोरियोग्राफर रेमो डिसूजा का जीवन परिचय Remo DSouza Biography In Hindi

Remo DSouza Biography in Hindi रेमो डिसूजा एक भारतीय कोरियोग्राफर और निर्देशक हैं।वह हिंदी सिनेमा में अपनी बेहतरीन कोरियोग्राफी और फिल्म फालतू और एबीसीडी के के लिए जाने जाते हैं। अपने बेहतरीन डांस स्टाइल के द्वारा इन्होने भारतीय सिनेमा में अपना बहुत बड़ा योगदान दिया है। कई ऐसी फिल्में है जिनमें इनके द्वारा कोरिओग्राफ किये गानों ने भरपूर सफलता हासिल की.अनेक डांस स्टाइल के साथ इनकी महारथ लॉकिंग पॉपिंग और हिपहॉप डांस स्टाइल में अधिक है।  कई ऐसी फिल्में है जिनमें इनके द्वारा कोरिओग्राफ किये गानों ने भरपूर सफलता हासिल की। तो चलिए आज हम आपको ऐसे ही सुपरस्टार से जुडी कुछ बाते बताने जा रहे है……Remo DSouza Biography In Hindi

 

कोरियोग्राफर रेमो डिसूजा का जीवन परिचय, Remo DSouza Biography in Hindi

जीवन से जुड़ी महत्वपूर्ण बातें 

रेमो डिसूजा का जन्म 2 अप्रैल 1972 को कर्नाटक के बैंगलोर में हुआ था। उनके पिता का नाम गोपी नायर है, जोकि एक नेवी ऑफिसर थे। उनकी माँ का नाम माधवीयम्मा था। जोकि एक गृहणी थीं। उनके एक बड़े भाई गणेश गोपी हैं।रेमो केवल डांस तक सीमित ना रहकर एक्टर, फिल्म डायरेक्टर और अब एक निर्देशक भी बन चुके है। कई टीवी डांस कार्यक्रम भी जज कियें और छोटे परदे के द्वारा हर घर में अपनी पहचान बनाई हैं। इनकी माँ माधवी लक्ष्मी एक गृहणी है। इनके अलावा रेमो के परिवार में इनकें बड़े भाई गणेश गोपी और 3 बहने शामिल है।

शिक्षा-

रेमो ने अपनी स्कूलिंग गुजरात जामनगर के एयरफोर्स स्कूल से संपन्न की। वह अपने स्कूली दिनों में एक बेहद अच्छे एथलीट थे, और उन्होंने उस दौरान कई अवार्ड भी अपने नाम किये थे। पढाई की तरफ उनका लगाव कम है बल्कि डांस की तरफ ज्यादा था. मो के परिवार में इनकें बड़े भाई गणेश गोपी और 3 बहने शामिल है।

रेमो डिसूजा का वैवाहिक जीवन

 रेमो डिसूजा की शादी लिजेल से हुई है जो कि एक कॉस्टयूम डिजायनर हैं। वह दो बेटों ध्रुव और गबिरिल के पिता भी हैं। हर परिस्थिति में अपने पति का साथ दिया। लिज़ेल्ल के साथ इनके दो बच्चें भी है, जिनका नाम गेब्रियल और ध्रुव है।
करियर-
 
रेमो डिसूजा ने कभी भी डांस की कोई ट्रेनिंग नहीं ली। उन्होंने डांस की शिक्षा माइकल जैक्सन के विडियोज को देखकर ग्रहण किया है। वह बचपन से ही माइकल के डांस मूव्स को देखकर उसमे अपने स्टेप्स खुद कोरियोग्राफ कर सीखते थे।जब रेमो ने डांस में अपना भविष्य बनाने का निर्णय किया तो वे अपनी पढाई को बिच में छोड़कर सपनोँ की नगरी मुंबई चले गयें। पैसे की तंगी के चलते उन्होंने अपनी डांस क्लास सुपर ब्रैट्स खोली।एक बार तो उनके पास पैसे की इतनी तंगी आ गयी थी की उन्हें अपनी दो रातें बिना कुछ खाए-पिए स्टेशन पर गुजारनी पड़ी। इन्होने जो भी सिखा वह केवल टीवी और विडियो के माध्यम से सिखा। वे हमेशा माइकल जैक्सन और उनके डांस स्टाइल को फॉलो करतें रहें। इन्होने जो भी सिखा वह केवल टीवी और विडियो के माध्यम से सिखा।
इन्होने अपनी जिंदगी में 6 महीने तक कड़ा संघर्ष किया. एक डांस कम्पटीशन आयोजित हुआ जिसमे रेमो की टीम ने जीत कर वंहा बाजी मार ली, और लोगो को उनका हुनर भी दिखाई दिया। अभी इनकें तीन इंस्टिट्यूट मुंबई, अँधेरी और बोरीवली में है।
रेमो डिसूजा को बॉलीवुड में इनका पहला ब्रेक फिल्म “दिल पे मत ले यार” से मिला, परंतु इस मूवी को बड़े पर्दे पर इतनी सफलता नहीं मिल सकीं। कई हिट फिल्मों के गानों को कोरियोग्राफ करने के बाद रेमो का करियर और उनकी प्रसिद्ध लगातार बढ़ती चली गयी।
रेमो डिसूजा के अवार्ड्स
 
  •   रेमो अपनी बेहतरीन कोरियोग्राफी के लिये कई पुरस्‍कारों से सम्‍मानित किये जा चुके हैं। उनमें से IIFA अवार्ड्स, जी़ सिने अवार्ड्स और स्‍टार डस्‍ट अवार्ड आदि प्रमुख हैं।

About the author

rohit singh

Writes high-quality content articles on various topics such as local politics, ancient cultures, social media, environmental issues, youth, social issues, and general society

Leave a Comment

error: Content is protected !!