BIOGRAPHY

साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर का परिचय – Sadhvi Pragya Singh Thakur Biography in Hindi

Sadhvi Pragya Singh Thakur Biography in Hindi भोपाल लोकसभा सीट से भारतीय जनता पार्टी की उम्मीदवार साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने कांग्रेस के दिग्गज नेता और मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह को भारी अंतर से चुनाव में हराया है। साधू-संतों को भी राजनीति में शामिल किया गया हैं, इस सूचि में ही मध्य-प्रदेश की साध्वी प्रज्ञा का नाम भी शामिल हैं। उनकी छवि बीजेपी के उन नेताओं में होती है जिनको हिंदुत्व के चेहरे के रूप में पेश किया जाता रहा है। तो चलिए जानते है एक ऐसे ही इंसान से जुडी हर बाते जो हम सबको पता नहीं है……….

Sadhvi Pragya Singh Thakur Biography in Hindi

 

साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर का परिचय – Sadhvi Pragya Singh Thakur Biography in Hindi

बचपन और प्रारम्भिक जीवन

इनका जन्म मध्य प्रदेश के मुरैना जिले में 2 फरवरी 1970 को हुआ था। उनके पिता का नाम डॉक्टर चंद्रपाल सिंह था जो एक आयुर्वेदिक डॉक्टर थे । इनके पिता राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से भी जुड़े हुए थे । उनकी माता का नाम सरला देवी है । साध्वी प्रज्ञा जी आविवाहित हैं । बचपन से ही वह अपने पिता के द्वारा बताए गए रास्तों पर चलना चाहती थी। अपनी प्रारम्भिक शिक्षा मध्यप्रदेश के भिंड से पूरी की। साध्वी प्रज्ञा ने इतिहास में स्नातक की डिग्री ली थी और वो आल इंडिया स्टूडेंट काउंसिल में भी सक्रिय थी। भोपाल से उन्होंने इतिहास में पोस्ट ग्रेज्युएशन किया हैं।

उनसे जुडी निजी जानकारियाँ

साध्वी का शुरूआत से ही दक्षिणपंथी संगठनों की तरफ झुकाव था। वह राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ और आखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद  की सक्रिय सदस्य थी। साध्वी प्रज्ञा ठाकुर इसके साथ ही विश्व हिंदु परिषद  (वीएचपी)  की महिला विंग दुर्गा वाहिनी से भी जुड़ी थी। उन्होंने 2002 में  ‘जय वंदे मातरम जन कल्याण समिति’ भी बनाई थी। हालांकि, वह अपने उत्तेजक भाषणों और भाजपा की स्टार प्रचारक होने के लिए जानी जाती हैं। वर्ष 2019 के आम चुनाव में, उन्हें कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह के खिलाफ भोपाल लोकसभा क्षेत्र से भाजपा ने मैदान में उतारा है।  साध्वी प्रज्ञा ठाकुर जी कॉलेज के दिनों से ही कुछ कर गुजरने की इच्छा रखती इसी इच्छा के चलते बे अखिल भारतीय भारतीय परिषद से जुड़ी उनकी वाणी में एक अलग तरह की धार थी उसी के चलते उन्होंने बहुत जल्द ही परिषद के सक्रिय कार्यकर्ता के रूप में अपनी अलग पहचान बनाई ।

राजनैतिक करियर और विवाद

  • राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सम्पर्क में आने के बाद साध्वी ने संन्यास ले लिया था, प्रज्ञा बहुत अच्छी वक्ता थी और उनके वाक्-कौशल ने ही उन्हें प्रसिद्धि दिलाई थी।
  • 2006 के मालेगांव मस्जिद बम विस्फोट में साध्वी मुख्य आरोपी थी, जिसमें दो बम विस्फोट महाराष्ट्र में और एक गुजरात में हुआ था। जिस विस्फोट में 6 लोग मारे गए और 100 से अधिक घायल हो गए थे। इसके चलते उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया ।
  • 2002 में साध्वी ने जय वन्दे मातरम जन कल्याण समिति का निर्माण किया।
  • बीजेपी के विधायक सुनील जोशी ने प्रज्ञा के सामने विवाह का प्रस्ताव रखा था, लेकिन दिसम्बर 2007 में उनकी गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी।
  •  प्रज्ञा ठाकुर ने 17 अप्रैल 2019 को भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता ली थी ।
  •  साध्वी प्रज्ञा के जेल से रिहा होने के बाद बीजेपी ने  खुले दिल से स्वागत किया और भोपाल में बीजेपी के वरिष्ठ नेताओं के बीच में साध्वी प्रज्ञा ने पार्टी की सदस्यता ग्रहण की।

साध्वी प्रज्ञा से जुड़े विवाद

  • मालेगांव ब्लास्ट
  • बयानों ने दिलाई सुर्खियां
  • दिग्गी राजा से है पुरानी अदावत
  • कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी को इटली वाली बाई कहा

यह भी जरुर पढ़े :-

About the author

rohit singh

Writes high-quality content articles on various topics such as local politics, ancient cultures, social media, environmental issues, youth, social issues, and general society

Leave a Comment

error: Content is protected !!