SELF IMPROVEMENTPERSONALITY DEVELOPMENT

Self Improvement Techniques कौनसे है जानिए हिंदी में

हेल्लो दोस्तों आज हम बात करते है Self Improvement Techniques की जिस से आपके जीवन में बदलाव आएगा | Self Improvement से आपके नकारात्मक विचारों को सकारात्मक विचारों में बदलना होता है | आज हम इस बात पर चर्चा करेंगे की कैसे अपने नकारात्मक आदतों को ख़त्म  किया जाए | Self Improvement Techniques

Self Improvement Techniques

Self Improvement क्या है ?

Self Improvement ये एक आतंरिक प्रक्रिया है जो आपका जीवन खुशहाल और बेहतर बना सके | यह आपके सकारात्मक आदतों को अपनाने और नकारात्मक आदतों को ख़त्म करने का प्रयास करना होता है | इस से आपका व्यावहारिक दृष्टिकोण बदल सकता है और आपके जीवन में ढेर सारी खुशी ला सकता है |

” जैसा हमारा आत्मविश्वास होता है , वैसे ही हमारी क्षमता होती है !”
” हर डॉ मिनट की शोहरत के पीछे आठ घंटे की कड़ी मेहनत होती है |”

Self Improvement बढ़ाने के लिए आप बहुत workshops , Teachers , Websites को खोजते हो लेकिन फिर भी आपका Self Improvement बढ़ता नहीं है | लेकिन आज मै ऐसे कुछ simple तरीके बताने जा रही हूं , जिस से आपका आत्मविकास बढ़ेगा |

आतंरिक परिवर्तन लाने के लिए आपको सबसे पहले आतंरिक कार्य की आवश्यकता होती है | अगर आप school में पढाए गए विषय पर घर में जाकर पढ़ाई ना करोगे तो आप परीक्षा में कैसे सफल हो पाओगे |

लेख और किताबें पढ़ने के लिए पर्याप्त नहीं है। आपने  जो भी पढ़ा जाता है उसका अभ्यास भी करना है। आंतरिक परिवर्तन में प्रेरणा, इच्छा, महत्वाकांक्षा, दृढ़ता और समर्पण की आवश्यकता होती है।

जब आप एक स्व सुधार कार्यक्रम से शुरू करते हैं, तो आपके पुराने आदतों और आपके अवचेतन मन से आने वाले आंतरिक प्रतिरोध का सामना करना होता है, और आपके आस-पास के लोगों से प्रतिरोध भी मिलता है ।

Self Improvement Techniques कौनसी है

सकारात्मक दृष्टिकोण बनाने और नकारात्मक विचारों को ख़त्म करने के लिए कुछ बेहतरीन तरीके आप आजमा सकते हो | वो कौनसे तरीके है इसके बारे में जानते है |

  1. अपने आस-पास देखो और देखों कि लोग विभिन्न परिस्थितियों में कैसे व्यवहार करते हैं। घर, काम, सुपरमार्केट में, बस, ट्रेन और सड़क पर मिलने वाले लोगों को देखें। आप टीवी पर Interview देने  वाले लोगों से भी सीख सकते हैं।
  2. देखें कि लोग कैसे बात करते हैं, चलते हैं और प्रतिक्रिया करते हैं, और दूसरों के साथ उनका कैसा व्यवहार होता है।
  3. लोगों द्वारा उनकी आवाज़ का उपयोग करने के तरीकों पर ध्यान दें और वे अन्य लोगों की आवाजों पर कैसे प्रतिक्रिया करते हैं। देखें कि जब आप चिल्लाते हैं, या धीरे-धीरे बोलते हैं तो आप कैसा महसूस करते हैं और आप कैसे प्रतिक्रिया करते हैं। देखो जब लोग क्रोधित, बेचैन और परेशान होते हैं, और जब आप शांत और आराम से होते हैं, तो आप और दूसरों के साथ क्या होता है।
  4. यदि आप जो देखते हैं उसे पसंद नहीं करते हैं, तो इसका विचार करें कि आपको यह क्यों पसंद नहीं है, और फिर अपने व्यवहार का विशलेषण करें, चाहे आप वैसे ही व्यवहार करें। अपने विश्लेषण में ईमानदार और निष्पक्ष रहें।
  5. जब आप पाते हैं कि आपके पास चरित्र और व्यवहार के इन अवांछित गुणों में से कुछ हैं, तो अक्सर यह पुष्टि करें कि हर बार जब आप इन लक्षणों या व्यवहार में खुद को शामिल करते हैं, तो आप उनसे अवगत रहेंगे, और इससे बचने के लिए अपनी पूरी कोशिश करेंगे ।
  6. अपने दिमाग में एक मानसिक स्थिति ऐसी बनाईये कि आप कैसे व्यवहार करना चाहते हैं। दिन में कई बार इसे दोहराएं।
  7. जब आप किसी को किसी प्रकार का व्यवहार या चरित्र गुणों को पहचानते हैं और पास करने की इच्छा रखते हैं, तो उसी तरह कार्य करने का प्रयास करें। यहां भी, प्रत्येक दिन एक दृश्य को कई बार कल्पना करें, जहां आप उस अलग तरीके से कार्य करते हैं और व्यवहार करते हैं।
  8. अपने दिमाग में बार-बार सोचें और कल्पना करें कि आप कैसे कार्य करना और व्यवहार करना चाहते हैं। लगातार, अपने आप को उन परिवर्तनों की याद दिलाएं जिन्हें आप बनाना चाहते हैं, और उनके अनुसार कार्य करने का प्रयास करें। हर बार जब आप अपनी पुरानी आदत के अनुसार अभिनय पाते हैं, तो बदलने और सुधारने के अपने निर्णय को याद रखें, और तदनुसार कार्य करें।
  9. यदि आप तेजी से नतीजे प्राप्त नहीं करते हैं तो निराश न हों। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप कितनी बार असफल हो जाते हैं या वांछित व्यवहार करना भूल जाते हैं। अपने प्रयासों से दृढ़ रहें और कभी हार न दें, और आप यह देखना शुरू कर देंगे कि आप और आपका जीवन कैसे बदलता है।

इस तरह से आप Self Improvement Techniques के बारे में जान चुके है | ये जानकारी आपको कैसे लगी हमे जरुर बताइए |

यह भी जरुर पढ़े :-

 

Srushti Tapase

मेरा नाम सृष्टि तपासे है और मै प्यारी ख़बर की Co-Founder हूं | इस ब्लॉग पर आपको Motivational Story, Essay, Speech, अनमोल विचार , प्रेरणादायक कहानी पढ़ने के लिए मिलेगी | आपके सहयोग से मै अच्छी जानकारी लिखने की कोशिश करुँगी | अगर आपको भी कोई जानकारी लिखनी है तो आप हमारे ब्लॉग पर लिख सकते हो |

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!
Close