यदि मै करोडपति होती …………. पर हिंदी निबंध Best Essay On Yadi Mai Crorepati Hoti

Yadi Mai Crorepati Hoti  यदि मै करोडपती होती ……………. पर हिंदी निबंध है | इस निबंध में पूरी कल्पना की है के यदि मै करोडपती होती तो क्या – क्या करती और क्या नहीं करती इस के बारे में पूरी कल्पना की है |

Yadi Mai Crorepati Hoti

यदि मै करोडपति होती …………. पर हिंदी निबंध Yadi Mai Crorepati Hoti

आज के भौतिक युग में धन सम्पति से परिपूर्ण होना बड़े सौभाग्य की बात है | परन्तु इसके बिना जीवन निरर्थक-सा लगता है | जिस व्यक्ति के पास बहुत अधिक सम्पत्ति हो जाती है वह प्राय : बुराइयो की और अग्रसर होने लगता है | वे मदिरापान करने लगते है, व्यभिचारी बन जाते है तथा अन्य अनेक प्रकार के कुकर्मो में लींन हो जाते है | यह बहुत गलत है | परन्तु मै सोचता हूँ कि यदि मै संयोगवश करोडपति हो जाऊ तो इन व्यभिचारो से दूर रह कर देश , समाज व दलित वर्ग के लिए अच्छे- अच्छे काम करुँगी |

करोडपति बनने पर सर्वप्रथम तो मै ऐसी संस्था की स्थापना करूँगी जो योग्य व् अधिकतम अंक प्राप्त करने वाले छात्रों व् छात्राओं के लिए छात्रवृत्ति की व्यवस्था करे ताकि सभी छात्रो व छात्राओं में अच्छी शिक्षा प्राप्त करने की होड़ लगा सके | देश को योग्य डाक्टर , इंजीनियर , सी. ए. व् कुशल प्रशासक मिल सके | देश में आवश्यकतानुसार धर्मशालाओ व गौशालाओ का निर्माण करवाऊंगी | लोगो की आध्यात्मिक रूचि को बढ़ावा देने के लिए देश में मन्दिरों का निर्माण करवाऊँगी |

निर्धन व्यक्तियों को सर्दी से बचाने के लिए समय – समय पर निशुल्क वस्त्रो का वितरण करूँगी | अनाथो के लिए मुफ्त भोजन की व्यवस्ता करूँगा तथा निर्धन परिवर से सम्बन्धित योग्य व् जरुरतमन्द छात्रो को नि:शुल्क वर्दी, पुस्तके व कापियों का प्रबंध करूँगा ताकि निर्धनता के कारण किसी भी योग्य विद्दार्थी का भविष्य अन्धकारमय न बन सके |

इनके अतिरिक्त वृद्धो के लिए वृद्धाश्रम की स्थापना करूँगी | इन आश्रमों में रहकर वृद्ध अपना मनोरंजन कर सकेगे | वृद्ध तथा रोगियों के लिए समय-समय पर फल तथा पौष्टिक पदार्थो का प्रबन्ध करता रहूँगी तथा वृद्धो के लिए धार्मिक पुस्तको, गीता-रामायण व भागवत आदि का मुफ्त वितरण करता रहूँगी | इनके लिए आवश्यकतानुसार दवा आदि का भी प्रबन्ध कराऊँगी | एक ऐसे नि:शुक्ल अस्पताल की व्यवस्था करवाऊँगी जहाँ से कोई भी निर्धन व्यक्ति दवा प्राप्त कर सके और दवा की कमी के कारण दु:खी न हो |

अपने इलाके में स्थापित अनाथालय को दान देकर उसमे अनेक सुविधाएँ प्रदान कराई जाएँगी | यहाँ रहकर अनाथ बच्चे अपने भविष्य को सुधार सकेगे | दो दिन निर्धन व् मजबूर व्यक्तियों के लिए मुफ्त भोजन की व्यवस्था करूँगी | सच तो यह है कि यदि मै करोडपति होती तो निर्धनों, लाचारो, अपंगो व छात्रो के लिए जो मुझसे अधिक – से – अधिक बन पड़ता मै करता ताकि वे अपने जीवन को सुखी बना सकते | यही मेरी हार्दिक इच्छा है |

यह भी जरुर पढ़े :-

Share on:

मेरा नाम सृष्टि तपासे है और मै प्यारी ख़बर की Co-Founder हूं | इस ब्लॉग पर आपको Motivational Story, Essay, Speech, अनमोल विचार , प्रेरणादायक कहानी पढ़ने के लिए मिलेगी | आपके सहयोग से मै अच्छी जानकारी लिखने की कोशिश करुँगी | अगर आपको भी कोई जानकारी लिखनी है तो आप हमारे ब्लॉग पर लिख सकते हो |

Leave a Comment

error: Content is protected !!